हिन्दी में समाचार

भारत का जिन्सी ऐटमी धमाका

भारत का जिन्सी ऐटमी धमाका

. . . . शाहनवाज़ फ़ारुक़ी . . . . . अगर ख़ुदा-ना-ख़ासता भारत में ज़लज़ला आता और इस से पाँच सात हज़ार लोग भी हलाक हो जाते तो पूरा भारत ग़म-ओ-अंदोह में डूब जाता, और इस से एक बहुत बड़ी ख़बर नमूदार होती। मगर 6 सितंबर 2018 के रोज़ एक बहुत बड़ा रुहानी, अख़लाक़ी, तैहज़ीबी और तारीख़ी ज़लज़ला आया और इस से एक अरब 30 करोड़ हिंदूस्तानियों का रुहानी, अख़लाक़ी, तैहज़ीबी और तारीख़ी वजूद हलाकत से दो-चार हो गया, मगर इस ज़लज़ले पर भारत में ख़ुशीयां मनाई गईं। ज़लज़ले का ख़ैरमक़दम किया गया। आप समझ गए होंगे कि हमारा इशारा भारती सुप्रीमकोर्ट के इस फ़ैसले की तरफ़ है जिसके तैहत इंडियन पैनलकोड की दफ़ा 377 को ख़त्म करके हम-जिंस परस्ती को जायज़ क़रार देकर उसे क़ानूनी तहफ़्फ़ुज़ मुहय्या कर दिया गया है। रुहानी, अख़लाक़ी, तहज़ीबी...

संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत के लिए मनोनीत मिस्र अरब महिला

असिंगटन (अंतर्राष्ट्रीय डेस्क) - अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा कि वह संयुक्त राज्य के स्थायी स्थगन में महिला दूतावास के रूप में पॉल के नाम पर विचार कर रहे हैं। अतीत में, दाना पॉल बुल गोल्डमैन कंपनी के कार्यकारी कार्यकारी के साथ काम करते हुए, अरब टीवी के अनुसार व्हाइट हाउस में सलाहकारों ने सेवा दी है, व्हाइट हाउस में पत्रकारों के सवालों का जवाब, राष्ट्रपति ट्रम्प यह अस्वीकार कर दिया गया है कि वह अपनी बेटी इवान ट्रम्प को संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत स्थापित करने की चाहती है। डैनी पॉल का नाम ऐसे समय में आया...